आगामी विधानसभा चुनाव-2024 : ‘शिवसैनिकों की पुकार, महादेव बाबर फिर एक बार’

आगामी विधानसभा चुनाव-2024 : ‘शिवसैनिकों की पुकार, महादेव बाबर फिर एक बार’

हड़पसर, जून (हड़पसर एक्सप्रेस न्यूज़ नेटवर्क)
आगामी विधानसभा चुनाव में हड़पसर विधानसभा चुनाव क्षेत्र से इस बार का चुनाव शिवसेना (ठाकरे गुट) की ओर से पूर्व विधायक महादेव बाबर को ही लड़ना चाहिए, ऐसी मनोकामना सभी शिवसैनिकों की है। ‘मानो कहो दिल से महादेव बाबर फिर से’ का यह नारा पूरे जोर शोर से हड़पसर में गूंज रहा है।

हड़पसर विधानसभा चुनाव क्षेत्र शिवसेना का मजबूत गढ़ है और आगामी विधानसभा चुनाव में महाविकास आघाड़ी की सीटों के आवंटन में इस क्षेत्र को हासिल करने के लिए मुंबई में नेताओं से यह चुनाव मैदान हमें ही मिले, ऐसा अनुरोध एवं तहेदिल से इच्छा शिवसैनिकों द्वारा व्यक्त की जा रही है।

लोकसभा चुनाव के बाद हाल ही में मुंबई में शिवसेना पुणे शहर के प्रमुख पदाधिकारियों के साथ शिवसेना के वरिष्ठ नेताओं की एक बैठक हुई, इस बैठक में हड़पसर विधानसभा क्षेत्र पर जोर दिया गया है और बताया कि हड़पसर अपनी पार्टी का मजबूत गढ़ है। महाविकास आघाड़ी की सीट आवंटन हड़पसर निर्वाचन क्षेत्र को शिवसेना के पक्ष में होना चाहिए, इसलिए पुणे शहर के साथ-साथ हड़पसर के नेताओं ने मुंबई में गुहार लगाई है ताकि हड़पसर निर्वाचन क्षेत्र शिवसेना के पास ही रहे।

महाविकास आघाड़ी सीटों के आवंटन में हड़पसर निर्वाचन क्षेत्र निर्णायक
वैसे देखा जाए तो हड़पसर पहले पुणे कैन्टोंमेंट चुनाव क्षेत्र में शामिल था तब शिवसेना का भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन था। तब भी इस चुनाव क्षेत्र में शिवसेना का ही बोलबाला रहा है। यहां से शिवसेना के टिकट पर प्रकाश देवले, सूर्यकांत लोणकर व लीलावती तुपे और हड़पसर चुनाव क्षेत्र के अलग गठन करने के बाद दो बार महादेव बाबर ने चुनाव लड़ा है।

भारतीय जनता पार्टी ने भी इस सीट पर कभी दावा पेश नहीं किया है यानी यह चुनाव क्षेत्र अपने पास रखने में शिवसेना का पलड़ा भारी रहा है। महाविकास आघाड़ी में हड़पसर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र निर्णायक है और इस निर्वाचन क्षेत्र पर एनसीपी (शरदचंद्र पवार), कांग्रेस और शिवसेना ने भी दावा किया है। आगे की राजनीति इस बात पर निर्भर करती है कि सीट वितरण में यह निर्वाचन क्षेत्र किसे मिलेगा, लेकिन पूर्व विधायक महादेव बाबर ने तो पूरी मजबूती से विश्वास के साथ दावा किया है कि यह निर्वाचन क्षेत्र शिवसेना अपने पास ही बरकरार रखेगी।

लोकप्रिय परिचित चेहरा
महादेव बाबर कई वर्षों से मुस्लिम बहुल क्षेत्र में नेतृत्व कर रहे है, शिवसेना में रहते हुए भी उनका मुस्लिम समाज के साथ अच्छा जनसंपर्क एवं गहरा रिश्ता बन गया है। वे मुस्लिम समाज के सुख-दुःख में सक्रिय रूप से भाग लेते हैं, इसलिए इस निर्वाचन क्षेत्र के लोग उन्हें प्यार से हिंदुओं के महादेव और मुसलमानों का बाबर कहते हैं। भले ही वह दस साल पहले चुनाव हार गए परंतु उन्होंने जनता के प्रति अपनी आस्था कदापि नहीं छोड़ी। महादेव बाबर ने हड़पसर चुनाव क्षेत्र में अपना जनसंपर्क निरंतर बरकरार बनाया रखा है।

जनता में वे सक्रिय रूप में कार्यरत रहते हुए जनता की सेवा करने में अहम योगदान देते आ रहे हैं, इसलिए निर्वाचन क्षेत्र में उनके प्रति सहानुभूति अधिक है। पूरे चुनाव क्षेत्र में लोकप्रिय परिचित चेहरे के रूप में उन्हें देखा जाता है। निश्चित ही इस बार आम जनता का प्रेम व समर्थन पाते हुए इस चुनाव में वे अपनी जीत की मुहर लगाएंगे, यह कहना गलत नहीं होगा। हड़पसर विधानसभा चुनाव क्षेत्र से चुनाव जीतने के बाद अपने विधायकी काल में उन्होंने हड़पसर में शिवसेना को मजबूती के साथ खड़ा किया।

Spread the love
Previous post

शैक्षणिक सामग्रियों के गुणवत्ता मूल्यांकन से चयनित सामग्री ‘डीबीटी’ के माध्यम से होगी वितरित

Next post

“भारतीय समस्याओं के लिए भारतीय समाधान एवं भारतीय नवाचारों के लिए भारतीय डेटा, क्योंकि हमारा स्पेक्ट्रम और यहां तक कि हमारा ह्यूमन फेनोटाइप भी बाकी दुनिया से भिन्न है” : केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह

Post Comment