समाज का खजाना हैं वरिष्ठ नागरिक : प्रा. महादेव वाल्हेर

समाज का खजाना हैं वरिष्ठ नागरिक : प्रा. महादेव वाल्हेर

हड़पसर, फरवरी (हड़पसर एक्सप्रेस न्यूज़ नेटवर्क)
वरिष्ठ नागरिक समाज का खजाना हैं और जो ज्ञान उनके पास है उसे सबके साथ साझा करना चाहिए और उनमें आत्मविश्वास पैदा करना चाहिए ताकि वे अवसाद से उबर सकें और खुशहाल जीवन जी सकें और इस अनुभव का उपयोग नई पीढ़ी को करना चाहिए। यह विचार पूर्व प्राचार्य महादेव वाल्हेर ने व्यक्त किए।
पुणे जिला शिक्षण मंडल के अण्णासाहेब मगर महाविद्यालय में सावित्रीबाई फुले पुणे विद्यापीठ के बहि:शाल शिक्षण मंडल द्वारा संयुक्त से संत गाडगेबाबा जयंती के अवसर पर एकदिवसीय वरिष्ठ नागरिक शिविर का आयोजन उत्साह में संपन्न हुआ। उक्त शिविर का उद्घाटन पूर्व प्राचार्य महादेव वाल्हेर के शुभ हाथों किया गया, तब वे बोल रहे थे। प्रमुख अतिथि के रूप में पूर्व प्राचार्य बी. जे. जाधव उपस्थित थे। अध्यक्षता महाविद्यालय के प्राचार्य व सावित्रीबाई फुले पुणे विद्यापीठ व्यवस्थापन परिषद के सदस्य डॉ. नितिन घोरपडे ने की।


उक्त शिविर में प्रभाकर तावरे ने ‘जेष्ठांचे आरोग्य’, के. डी. पवार ने ‘शंभर वर्षे निरोगी जगा’, पितांबर पाटिल ने ‘कथाकथनातून जेष्ठांशी संवाद’ पर मार्गदर्शन किया और भालचंद्र कोलपकर ‘हास्य मैफिल’ प्रस्तुत की।
बदलते जीवन स्तर के अनुसार वरिष्ठ नागरिकों की स्थिति भी बदल रही है। घर- घर में खुशहाली का माहौल बनाए रखने के लिए सामंजस्य बना रहना चाहिए। यह मत पूर्व प्राचार्य बी. जे. जाधव ने व्यक्त किए।
ज्ञान और विचारों के आदान-प्रदान में समाज के वरिष्ठ नागरिकों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है और नई शैक्षिक नीति में ‘कैंपस टू कम्युनिटी’ की अवधारणा को महत्व दिया जा रहा है और छात्रों को समाज के ज्ञान को प्रतिबिंबित करने पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। यह विचार महाविद्यालय के प्राचार्य व सावित्रीबाई फुले पुणे विद्यापीठ के व्यवस्थापन परिषद के सदस्य डॉ. नितिन घोरपडे ने व्यक्त किये।
इस अवसर पर यहां महाविद्यालय के उपप्राचार्य डॉ. शुभांगी औटी, डॉ. प्रशांत मुले, प्रा. अनिल जगताप, डॉ. नितिन लगड, प्रा. शैलजा धोत्रे, डॉ. शुभांगी औटी, प्रा. ऋषिकेश मोरे, अनिता गाडेकर, पूर्व नगरसेवक शिवाजी पवार, डॉ. शोभा पाटिल, डॉ. सुनंदा थोरात, पांडुरंग शेवाले, शिवशंभो वरिष्ठ नागरिक संघ के अध्यक्ष जयप्रकाश शहा, सचिव चंद्रकांत उंबरदंड, किर्लोस्कर वरिष्ठ नागरिक संघ के श्रीशैल जकूणे, सुधीर मेथेकर, शिवाजी माली, महादेव धर्मे आदि वरिष्ठ नागरिक उक्त शिविर को बहुत अच्छा प्रतिसाद देते हुए शामिल हुए।
कार्यक्रम का प्रास्ताविक केंद्र कार्यवाह प्रा. डॉ. नाना झगडे ने किया। कार्यक्रम का सूत्र-संचालन छात्रा अक्षदा पाचुंदकर और आभार प्रदर्शन मनाली रासकर ने किया।

Spread the love
Previous post

डॉ. डी.वाई. पाटिल स्कूल ऑफ मैनेजमेंट के छात्रों ने जिला परिषद प्राथमिक विद्यालय में लागू कीं विभिन्न गतिविधियाँ

Next post

डिफेंस एक्सपो में 1 हजार 358 करोड़ रुपये के सामंजस्य करार : राज्य में बड़ी मात्रा में प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार निर्मित होंगे

Post Comment