हड़पसर में दोनों पालकियों का उत्साहपूर्वक स्वागत व सहयोग करें : विधायक चेतन तुपे

हड़पसर में दोनों पालकियों का उत्साहपूर्वक स्वागत व सहयोग करें : विधायक चेतन तुपे

हड़पसर, जून (हड़पसर एक्सप्रेस न्यूज़ नेटवर्क)
पालकी समारोह के प्रस्थान में प्रशासनिक विभागों की अहम भूमिका होती है। प्रशासन को पालकी समारोह के प्रमुख द्वारा दिए गए निर्देशों को लागू करने का प्रयास करना चाहिए। स्थानीय नागरिकों और कार्यकर्ताओं को हड़पसर में दोनों पालकियों का उत्साहपूर्वक स्वागत व सहयोग करना चाहिए। यह अपील हड़पसर विधानसभा चुनाव क्षेत्र के विधायक चेतन तुपे ने की।

संतश्रेष्ठ श्री ज्ञानेश्वर महाराज और जगद्गुरु श्री संत तुकाराम महाराज पालकी समारोह की पूर्व तैयारी के संबंध में और पालकी के स्वागत एवं सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए विधायक चेतन तुपे द्वारा विभिन्न प्रशासनिक अधिकारियों एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं की समीक्षा बैठक आयोजित की गई थी तब मार्गदर्शन करते हुए वे बोल रहे थे।

इस अवसर पर यहां जगद्गुरु संत तुकाराम महाराज पालकी समारोह के प्रमुख माणिक मोरे महाराज, संतोष मोरे महाराज, संजय मोरे महाराज, भानुदास मोरे महाराज, संत ज्ञानेश्वर महाराज पालकी समारोह के प्रमुख योगी निरंजननाथ महाराज, सहायक आयुक्त बालाासाहब ढवले पाटिल, पूर्व महापौर वैशाली सुनील बनकर, क्षेत्रिय चिकित्सा अधिकारी डॉ. दिनेश बेंडे, डॉ. स्नेहल काले, जल आपूर्ति विभाग के सुभाष पावरा, स्वास्थ्य निरीक्षक संजय धनवट, शाखा अभियंता पूनम गायकवाड , डॉ. शंतनु जगदाले, मनोज घुले, अमर तुपे आदि प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

इस अवसर पर सहायक आयुक्त बालाासाहब ढवले पाटिल ने मनपा के विभिन्न विभागों द्वारा प्रदान की जानेवाली सेवा सुविधाओं के बारे में जानकारी दी।

विधायक चेतन तुपे ने आगे बोलते हुए कहा कि पालकी विश्राम स्थल पर बनाए जानेवाले मंडप समान स्तर के होने चाहिए। अधिक श्रद्धालु दर्शन कर सकें, इसके लिए प्रशासन को सड़क पर सफेद पट्टियां लगवाकर नागरिकों और पालकी रथ के बीच दूरी बनाए रखने का प्रयास करना चाहिए। पंढरपुर से लौटते समय संत तुकाराम महाराज पालकी समारोह का हड़पसर में विश्राम की कुछ साल पहले खंडित हुई परंपरा पालकी समारोह के प्रमुखों ने फिर से शुरू करना चाहिए, जिसके लिए सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।
जगद्गुरु संत तुकाराम महाराज पालकी समारोह के प्रमुख माणिक मोरे महाराज ने कहा कि विधायक चेतन तुपे की पहल से की गई समीक्षा बैठक में पालकी समारोह के कई सवालों का समाधान हो रहा है। सभी को हरिद्वारी प्लास्टिक मुक्त वारी संकल्पना को क्रियान्वित करके वृक्षारोपण करना चाहिए।

भानुदास मोरे महाराज ने कहा कि प्रशासन को पालकी रथ और दर्शन के लिए आनेवाले नागरिकों के बीच दूरी बनाए रखने का प्रयास करना चाहिए।
समीक्षा बैठक में सुनील बनकर, नंदा लोणकर, पत्रकार अनिल मोरे, तुषार पायगुडे, संजीवनी जाधव, दिपाली झेंडे, योगेश गोंधले आदि ने सुझाव दिए।
बैठक का सूत्र-संचालन डॉ.शंतनु जगदाले और आभार प्रदर्शन माऊली कुडले ने किया।

Spread the love

Post Comment