सहकारिता मंत्रालय, केंद्रीय सहकारिता और नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री मुरलीधर मोहोल ने वैकुंठ मेहता सहकारी प्रबंधन संस्था का किया दौरा

सहकारिता मंत्रालय, केंद्रीय सहकारिता और नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री मुरलीधर मोहोल ने वैकुंठ मेहता सहकारी प्रबंधन संस्था का किया दौरा

पुणे, जून (जिमाका)
केंद्रीय सहकारिता और नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री मुरलीधर मोहोल ने अपने पद का कार्यभार संभालने के बाद 16 जून 24 को पुणे में वैकुंठ मेहता सहकारी प्रबंधन संस्था का दौरा किया। केंद्रीय राज्य मंत्री मुरलीधर मोहोल ने वैकुंठ मेहता की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर सहकारी क्षेत्र में उनके को योगदान के लिए श्रद्धांजलि दी। संस्थान की निदेशक डॉ. हेमा यादव ने पुष्पगुच्छ देकर उनका स्वागत किया। सहकारिता राज्य मंत्री का पदभार ग्रहण करने के लिए डॉ. हेमा यादव ने उन्हें बधाई दी और उन्होंने आशा व्यक्त की कि उनके कार्यकाल के दौरान इस संगठन में कई पहल शुरू की जाएंगी, जिससे महाराष्ट्र सहित पूरे देश में सहकारी आंदोलन मजबूत होगा।


डॉ. हेमा यादव ने संगठन द्वारा की गई विभिन्न गतिविधियों पर एक संक्षिप्त प्रस्तुति दी। प्रस्तुतिकरण के दौरान संगठन के सात केन्द्रों द्वारा किये जानेवाले विशिष्ट कार्यों का उल्लेख किया गया। साथ ही सहकारिता मंत्रालय की स्थापना के बाद वैकुंठ मेहता सहकारी प्रबंधन संस्थान द्वारा संचालित विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रमों की भी जानकारी दी गयी। पिछले तीन दशकों से सेंटर फॉर मैनेजमेंट एजूकेशन (सीएमई) के तहत युवाओं को पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा इन मैनेजमेंट-एग्री बिजनेस मैनेजमेंट (पीजीडीएम-एबीएम) पाठ्यक्रम की 31 इकाइयों के माध्यम से लगातार प्रशिक्षित किया गया है। उन्होंने कहा, इस पाठ्यक्रम के अंतर्गत छात्रों को सहकारी, बैंकिंग और कृषि-व्यवसाय उद्योगों में 100% प्लेसमेंट (रोजगार) मिला है।

सहकारी प्रबंधन केंद्र (सीसीएम) के अंतर्गत संचालित जानेवाली सहकारी व्यवसाय प्रबंधन में डिग्री (पीजी-डीसीबीएम) इस पाठ्यक्रम की 58 वें बैच के अंतर्गत सहकारी क्षेत्र में महिला विकास और उद्यमिता के लिए किए गए कार्यों का उल्लेख किया गया। संस्थान ने सहकारी क्षेत्र के लिए प्रशिक्षण, अनुसंधान, सलाहकार और साइबर सुरक्षा प्रदान करने के लिए उत्कृष्टता का केंद्र बनने की दिशा में कदम बढ़ाया है।

राज्य मंत्री मुरलीधर मोहोल ने प्राध्यापक और कर्मचारी सदस्यों के साथ 1967 से सहकारी क्षेत्र में संस्थान की भूमिका को समझने के दृष्टिकोण से बातचीत की। मोहोल ने संगठन में चलाए जा रहे सभी केंद्रों और प्रशिक्षण कार्यक्रमों की समीक्षा की। उन्होंने सहकारी समितियों पर भी अपने विचार साझा किए। अपने भाषण में मंत्री ने संस्थान द्वारा किए गए कार्यों पर संतोष व्यक्त किया।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री और सहकारिता मंत्री अमित शाह के नेतृत्व में भारत सरकार द्वारा समृद्धि के लिए की गई पहल पर ध्यान देकर संस्था के प्राध्यापक और कर्मचारियों से काम करने की अपील की।

राज्य मंत्री मुरलीधर मोहोल का यह दौरा संगठन के लिए एक महत्वपूर्ण मोड़ साबित होगा। इससे सहकारी शिक्षा और प्रशिक्षण में संगठन की महत्वपूर्ण भूमिका अधिक सक्षम होगी। साथ ही, उनके मार्गदर्शन और सुझावों से भविष्य की पहलों की संख्या में वृद्धि होगी और देश भर में सहकारी प्रशिक्षण कार्यक्रमों के प्रभाव और पहुंच में वृद्धि होगी।

Spread the love
Previous post

‘आरोग्याची वारी-पंढरीची दारी’ : वारी की भव्यता, सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग की तैयारी

Next post

पुणे मंडल के अधिकारियों ने गाड़ी संचालन, यात्री सुविधाओं तथा ऑन बोर्ड सेवाओं के संरक्षा पहलू के बारे में जमीनी हकीकत की जांच हेतु गाड़ियों में निरीक्षण किया

Post Comment